चाय पीना पड़ सकता है महंगा – जून में बढ़े 7% दाम

July 7, 2018

चाय का उत्पादन कम होने के कारण जून में चाय के दाम करीब 7 फीसदी बढ़ गए हैं.

मई में चाय का उत्पादन सालाना आधार पर 5 फीसदी गिर गया है. उद्योग के अधिकारियों के मुताबिक, जून में भी यह रुझान जारी रहा.

ऐसा माना जा रहा है की मई महीने के दूसरे पखवाड़े के बाद से असम और पश्चिम बंगाल के चाय बागानों में औसत से कम बारिश हुई है. 2018 के पहले 5 महीनों में भारत का कुल चाय उत्पादन एक साल पहले के मुकाबले 31.5 करोड़ किलोग्राम से घटकर 29 करोड़ किलोग्राम पर आ गया है.

इसी तरह असम और पश्चिम बंगाल में चाय का औसत नीलामी भाव इस अवधि के दौरान एक साल पहले के 151.81 रुपये प्रति किलो से बढ़कर 161 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गया है. कलकत्ता टी ट्रेडर्स एसोसिएशन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “घरेलू और निर्यात बाजारों में चाय की मांग बहुत मजबूत है. उन्होंने कहा है कि “चाय की कीमतें बढ़ी हैं और हम उम्मीद करते हैं कि आने वाले महीनों में चाय के दामों में तेजी जारी रहेगी.” गुरुवार को रेटिंग एजेंसी इक्रा ने कहा था कि आने वाले दिनों में चाय की कीमतों का पूरे साल का ट्रेंड सप्लाई और डिमांड से तय होगा.

हालांकि, कीमतों में सुधार के बावजूद, चाय उत्पादकों पर लागत का दबाव जारी रहने की संभावना है. असम और पश्चिम बंगाल में चाय बागान के श्रमिकों के लिए लागू होने वाली नई मजदूरी दोनों राज्यों में बड़ी चाय कंपनियों के वित्तीय प्रदर्शन पर असल डालेगी. आने वाले महीनों में, विदेश में विशेष रूप से परंपरागत चाय की मांग में संभावित वृद्धि और रुपये में गिरावट से निर्यात बढ़ने के आसार हैं.

About nehanchal

I am Nehanchal. 3 years ago, I started my career as content writer at Money classic Research. I am fascinated with this job and I feel habit of reading and writing enhances your skills. I love to write technical and health blogs. However, I am engineer turned writer and pursued graduation at Rajiv Gandhi Prodyogiki Vishwavidhyalaya.
By: nehanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *